Web Analytics
खर्राटे रोकने के घरेलू उपाय

खर्राटे रोकने के घरेलू उपाय

Best Breitling Navitimer replica for sale, super fake Breitling Bentley watches knockoff online with cheap price wholesale.

bestuhren.de geht über die Erschwinglichkeit hinaus, indem sie einen makellosen Kundenservice bietet und sich damit als vertrauenswürdige Quelle für Replik-Uhren und als ideale Wahl für den deutschen Markt etabliert.

Best quality replica watches uk is swiss watches at bestfastwatches.com,sale 1:1 best replica fake watches, high-quality swiss movement.

क्या आपने कभी सोते समय मुंह से अजीब सी आवाज आती सुनी है? जी हां, हम बात कर रहे हैं “खर्राटों” की! इस तरह के “खर्राटों” के लिए किसी विशेषज्ञ से सलाह लेना जरूरी है!

खर्राटे क्या होते हैं?

सोते समय मुंह से आने वाली आवाज है। इस ध्वनि घटना को “खर्राटे” कहते हैं और इसके कारण लोगों को सोने में भी दिक्कत होती है।

कुछ लोगों के लिए खर्राटे लेना एक छोटी सी समस्या है जबकि कुछ के लिए यह एक गंभीर बीमारी की तरह हो सकता है।

हम नींद में खर्राटे क्यों आते हैं?

हम नींद में खर्राटे क्यों आते हैं? यह सवाल किसी को भी परेशान कर सकता है, क्योंकि इसका सीधा जवाब देना संभव नहीं है।

इसका एक मुख्य कारक नाड़ी-पल्स है। नाड़ी-पल्स, यानी प्रत्येक सांस में वापसी, फुलाव के लिए जिम्मेदार होती है, यानी नवजात शिशु की दिल की धड़कन बढ़ रही है।

क्या खर्राटे लेना कोई बीमारी है?

खर्राटे लेना किसी भी तरह की बीमारी का संकेत हो सकता है, जिसका आपके स्वास्थ्य पर दुर्भाग्यपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है।

नींद के दौरान हल्के से सुनाई देने वाले खर्राटे कमजोर मांसपेशियों, भावना और खर्राटों का संकेत हैं। खर्राटे आने के कारण , खर्राटे आमतौर पर शराब पीने, मोटापे, ढीले जोड़ों या सिगरेट पीने के कारण हो सकते हैं। सिकुड़ी हुई मांसपेशियों की कमजोरी भी खर्राटों का मुख्य कारण है, जिसके कारण कोमल मांसपेशियां ढीली हो जाती हैं और सांस लेने में कठिनाई होती है। समय पर पूरी नींद न लेने के कारण भी खर्राटे आते हैं।

नींद के दौरान हमारी थकान दूर नहीं होती और यह शरीर में कई तरह की समस्याएं पैदा करता है। अक्सर साइनस या एलर्जी भी खर्राटों का एक बड़ा कारण हो सकता है, जिससे सांस लेना मुश्किल हो जाता है और खींचने जैसी आवाज आती है। खर्राटों से होने वाली समस्याएं खर्राटे हमारी नींद को हर दिन असुरक्षित बना सकते हैं। यह समस्या प्राथमिक स्तर पर पाई जाती है, जिसके कारण हमें पूरे दिन अपने प्रदर्शन में कमी महसूस हो सकती है।

इसके साथ ही खर्राटों के कारण मुंह सूखना, सिरदर्द, जी मिचलाना, पेट में गैस जैसी समस्याएं कई आपातकालीन स्थितियों और आत्मसम्मान की कमी जैसे मनोवैज्ञानिक मुद्दों का कारण भी बन सकती हैं। इसके अलावा यह भी देखा गया है कि खर्राटों के कारण होने वाली समस्याएं उच्च रक्तचाप और हृदय रोग जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को भी जन्म देती हैं। इसलिए इस समस्या का तुरंत इलाज करना बहुत जरूरी है।

खर्राटे कैसे बंद करें

खर्राटे कैसे बंद करें? यह सवाल हमेशा सोते समय हमारे दिमाग में चलता रहता है। सही पोजीशन में सोने से आपकी नाक अपने आप सुरक्षित होकर अधिक राहत मिल सकती है।

खर्राटे रोकने के घरेलू उपाय

खर्राटे रोकने के घरेलू उपायों में सबसे पहला सुझाव है कि अपनी नींद की आदतों को बदलें। अपने सिर पर ऊंचा तकिया रखें, या दूसरा तकिया इस्तेमाल करें ताकि आपका गला सीधा रहे।

खाने के दौरान दही या अदरक का सेवन करने से भी खर्राटे कम हो सकते हैं। रात को सोने से पहले गुनगुना दूध पिएं या छोटी इलायची के साथ चाय बनाएं।

व्यायाम करके वजन कम करने से अक्सर खर्राटे बंद हो जाते हैं। योग और प्राणायाम भी इसमें मददगार साबित होते हैं।

ज़्यादा समय घर पर बिताने की आदत डालें धूप सेंकें ताकि विटामिन डी की कमी पूरी हो सके जो तनाव को दूर करने में मदद करता है।

इन उपायों को अपनाकर आप अपनी दिनचर्या में सुधार ला सकते हैं और घर पर ही खर्राटों का इलाज कर सकते हैं।

आहार में बदलाव

खर्राटों को रोकने में आहार की अहम भूमिका होती है। सुस्ती, प्रक्रिया की कमी और पेट में गैस की वजह से होने वाली समस्याओं को अपने आहार में हमेशा के लिए टालना होगा।

तली-भुनी, मसालेदार और प्रोसेस्ड चीजों से परहेज को जीवन में लाना होगा। आमतौर पर देखा जाए तो खर्राटों का मुख्य कारण वजन बढ़ना या मोटापा है।

जितना हो सके फलों और सब्जियों का इस्तेमाल करें। फाइबर युक्त भोजन खाने से पेट साफ रहता है और खर्राटे कम आते हैं। सावधान रहें, नियमित अंतराल पर कम मात्रा में खाना खाना जरूरी है।

इसके अलावा रात में भारी भोजन से बचें। अत्यधिक तरल पदार्थों का सेवन कम करें ताकि गैस की शिकायत न हो। आखिर ऐसा कहने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें:- खर्राटों का क्या कारण है और इसे कैसे रोकें?

निष्कर्ष

खर्राटे एक सामान्य समस्या हो सकती हैं, लेकिन इसका प्रभाव हमारे दिनचर्या पर पड़ सकता है। खर्राटे को बंद करने के लिए उपरोक्त सुझावों का पालन करें, सही मुल्‍त में पौष्‍टि, संतुलित जीवन-शैली, और अधिक देर तक सोने की कोशिश करें। यदि आपको इस समस्या से बाहर निकलने में कठिनाई होती है, तो कृपया अपने चिकित्‍सक से संपर्क करें।

Leave Your Comment